डेयरी बूथ आवंटन के कार्य को प्राथमिकता से करें- मुख्य सचिव

 July, 21 2021 3:29 AM Prioritize the work of dairy booth allocation - Chief Secretary

आर्य ने कहा कि राज्य में 5 हजार बूथ आंवटन एक बजट घोषणा है तथा मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना करते हुए सभी कलेक्टर्स को यह कार्य उच्च प्राथमिकता देकर करना है। उन्होंने कहा इस कार्य की वे लगातार मॉनीटरिंग करते रहें तथा इसमें कोई भी तकनीकी समस्या आ रही है तो गोपालन विभाग से तालमेल कर कार्य पूरा करें।

डेयरी बूथ आवंटन के कार्य को प्राथमिकता से करें- मुख्य सचिव

जयपुर, 20 जुलाई। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि सभी कलेक्टर्स 5 हजार डेयरी बूथ आवंटन के कार्य को प्राथमिकता से करें तथा आवंटन के लिए पुलिस, ट्रैफिक अथवा नगरपालिका से एनओसी लेकर शीघ्र कार्य पूरा करना सुनिश्चित करें। आर्य मंगलवार को यहां शासन सचिवालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी संभागीय आयुक्त तथा कलेक्टर्स के साथ गोपालन, जनजाति, नगरीय विकास, प्रशासनिक सुधार विभाग तथा कला एवं संस्कृति विभाग के विभिन्न मुद्दों की समीक्षा बैठक कर रहे थे।

5 हजार डेयरी बूथ का आवंटन

आर्य ने कहा कि राज्य में 5 हजार बूथ आंवटन एक बजट घोषणा है तथा मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना करते हुए सभी कलेक्टर्स को यह कार्य उच्च प्राथमिकता देकर करना है। उन्होंने कहा इस कार्य की वे लगातार मॉनीटरिंग करते रहें तथा इसमें कोई भी तकनीकी समस्या आ रही है तो गोपालन विभाग से तालमेल कर कार्य पूरा करें।

वनाधिकार दावों को शीघ्र निस्तारित करें

उन्होंने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए कि 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस से पहले व्यक्तिगत एवं सामुदायिक वनाधिकार के अन्तर्गत आ रहे लंबित प्रकरणों को निपटायें जिससे नये प्रकरणों को लिया जा सकें। उन्होंने निर्देश दिए कि जिलों द्वारा वनाधिकार संबंधी सूचना का एमआईएस पोर्टल पर इन्द्राज, जारी वनाधिकार पत्रों का राजस्व अभिलेख में अंकन तथा वन धन केन्द्र के लिए व्यावसायिक योजना तैयार करना संबंधी विभिन्न कार्याें को भी क्रियान्वित करें। उन्होंने जिला कलेक्टर्स को उपवन संरक्षक के साथ कॉर्डिनेट कर दावों के लंबित प्रकरणों की सूचना जनजाति तथा वन विभाग को भेजने के भी निर्देश दिए।

‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ से पूर्व सिवायचक भूमि को हस्तान्तरित करें

मुख्य सचिव ने सभी कलेक्टर्स को निर्देशित किया कि वे 2 अक्टूबर ‘प्रशासन शहरों के संग अभियान’ से पूर्व सिवायचक भूमि को संबंधित निकाय को हस्तान्तरित करें। उन्होंने कलेक्टरों को आरटीआई ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्टर होने का प्रमाण पत्र भिजवाने के लिए भी निर्देशित किया।

कलाकारों का डेटाबेस तैयार करें

उन्होंने कहा कि राज्य के कलाकारों को मंचीय प्लेटफॉर्म देना तथा उन्हें राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय प्रस्तुतिकरण में तैयार करने के लिए राज्य सरकार कलाकारों का डाटाबेस तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि हर जिले में कलाकारों में क्षमताएं है तथा हर क्षेत्र की अपनी परम्परा है। कलेक्टर्स सभी विधाओं को देखें तथा उस आधार पर कलाकारों का डेटाबेस तैयार कर कला एवं संस्कृति विभाग को भेजें। उन्होंने निर्देशित किया कि इस संबंध में वे जिलों में नोडल ऑफिसर बनायें तथा प्रचार प्रसार भी करवायें।

Disclaimer :​ All the information on this website is published in good faith and for general information purpose only. www.newsagencyindia.com does not make any warranties about the completeness, reliability and accuracy of this information. Any action you take upon the information you find on this website www.newsagencyindia.com , is strictly at your own risk

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.wincompete&hl=en

ताज़ा खबरें
पहले जनता के सार के साथ स्वच्छ सर्वेक्षण, 2022 का शुभारम्भ
पहले जनता के सार के साथ स्वच्छ सर्वेक्षण, 2022 का शुभारम्भ

 September, 28 2021 3:16 AM

73 शहरों में स्वच्छता के मानकों पर शहरों को श्रेणीबद्ध करने के उद्देश्य से एमओएचयूए द्वारा 2016 में शुरू किया गया, स्वच्छ सर्वेक्षण 4,000 यूएलबी को शामिल करते हुए आज दुनिया का सबसे बड़े शहरी स्वच्छता सर्वेक्षण बन गया है। सर्वेक्षण की रूपरेखा कई साल के दौरान विकसित हुई है और आज यह एक विशेष प्रबंधन टूल बन गया है, जो स्वच्छता परिणामों को प्राप्त करने के लिए जमीनी स्तर पर कार्यान्वयन को गति देता है। वास्तविकता यह है कि एसएस 2021 का पिछला संस्करण महामारी के चलते जमीनी स्तर पर पैदा चुनौतियों के बावजूद रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया था और इसमें 5 करोड़ नागरिकों की प्रतिक्रिया लेना एक बार फिर से ‘सम्पूर्ण स्वच्छता’ के लक्ष्य पर नागरिकों के जिम्मेदारी लेने का प्रमाण है। नागरिक अब उत्सुकता से इसके परिणामों का इंतजार कर रहे हैं, जिसकी मंत्रालय द्वारा जल्द ही घोषणा की जाएगी।

Read More..
आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन, अब देश भर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा
आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन, अब देश भर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा
↑ To Top