राजस्थान की 5 करोड़ से ज्यादा आबादी का हुआ वैक्सीनेशन

 September, 14 2021 4:08 AM Vaccination of more than 5 crore population of Rajasthan

सोमवार शाम तक प्रदेश की लक्षित आबादी 5 करोड़ 14 लाख 95 हजार 402 लोगों में से 3 करोड़ 73 लाख लोगों को पहली तथा 1 करोड़ 27 लाख लोगों को दूसरी डोज सहित कुल 5 करोड़ 78 हजार 73 कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है।

राजस्थान की 5 करोड़ से ज्यादा आबादी का हुआ वैक्सीनेशन

जयपुर, 13 सितंबर। कोरोना प्रबंधन के बाद कोरोना वैक्सीनेशन में भी प्रदेश अन्य राज्यों के लिए मिसाल बनता जा रहा है। सोमवार शाम 4 बजे तक प्रदेश की लक्षित आबादी में से 5 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज लगा दी गई है।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने सभी चिकित्साकर्मियों और कार्मिकों को बधाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने कोरोना प्रंबधन के बाद वैक्सीनेशन में भी नजीर पेश की है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग के सभी कार्मिकों ने मनोयोग से वैक्सीनेशन का कार्य किया गया जिसकी वजह से 5 करोड़ से ज्यादा आबादी का वैक्सीनेशन किया जा सका।

डॉ. शर्मा ने बताया कि सोमवार शाम तक प्रदेश की लक्षित आबादी 5 करोड़ 14 लाख 95 हजार 402 लोगों में से 3 करोड़ 73 लाख लोगों को पहली तथा 1 करोड़ 27 लाख लोगों को दूसरी डोज सहित कुल 5 करोड़ 78 हजार 73 कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश की आधी आबादी के एक डोज लगने से हालांकि कोरोना संक्रमण की आशंका तो कम हुई है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के अनुसार आने वाले दिनों में तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए विशेष सतर्कता बनाये रखने की आवश्यकता है। उन्होंने आमजन से कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बाहर निकलने से पहले मास्क लगाने, भीड़भाड़ में कम से कम जाने, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने और बार-बार साबुन से हाथ धोने को आदत बनाने का आव्हान किया है।

Disclaimer :​ All the information on this website is published in good faith and for general information purpose only. www.newsagencyindia.com does not make any warranties about the completeness, reliability and accuracy of this information. Any action you take upon the information you find on this website www.newsagencyindia.com , is strictly at your own risk

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.wincompete&hl=en

ताज़ा खबरें
पहले जनता के सार के साथ स्वच्छ सर्वेक्षण, 2022 का शुभारम्भ
पहले जनता के सार के साथ स्वच्छ सर्वेक्षण, 2022 का शुभारम्भ

 September, 28 2021 3:16 AM

73 शहरों में स्वच्छता के मानकों पर शहरों को श्रेणीबद्ध करने के उद्देश्य से एमओएचयूए द्वारा 2016 में शुरू किया गया, स्वच्छ सर्वेक्षण 4,000 यूएलबी को शामिल करते हुए आज दुनिया का सबसे बड़े शहरी स्वच्छता सर्वेक्षण बन गया है। सर्वेक्षण की रूपरेखा कई साल के दौरान विकसित हुई है और आज यह एक विशेष प्रबंधन टूल बन गया है, जो स्वच्छता परिणामों को प्राप्त करने के लिए जमीनी स्तर पर कार्यान्वयन को गति देता है। वास्तविकता यह है कि एसएस 2021 का पिछला संस्करण महामारी के चलते जमीनी स्तर पर पैदा चुनौतियों के बावजूद रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया था और इसमें 5 करोड़ नागरिकों की प्रतिक्रिया लेना एक बार फिर से ‘सम्पूर्ण स्वच्छता’ के लक्ष्य पर नागरिकों के जिम्मेदारी लेने का प्रमाण है। नागरिक अब उत्सुकता से इसके परिणामों का इंतजार कर रहे हैं, जिसकी मंत्रालय द्वारा जल्द ही घोषणा की जाएगी।

Read More..
आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन, अब देश भर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा
आयुष्मान भारत-डिजिटल मिशन, अब देश भर के अस्पतालों के डिजिटल स्वास्थ्य समाधानों को एक-दूसरे से जोड़ेगा
↑ To Top